माइक पोम्पिओ ने ब्रिटेन के द्वारा 5G नेटवर्क के लिए चीन के हुआवै टेलीकॉम को चरणबद्ध तरीके से हटाने के फैसले का किया स्वागत


अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (फाइल फोटो)

वाशिंगटन:

अमेरिकी दवाब के बाद ब्रिटेन के द्वारा 5G नेटवर्क के लिए चीन के हुआवै टेलीकॉम को चरणबद्ध तरीके से हटाने के फैसले का अमेरिका ने मंगलवार को स्वागत किया है. विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने एक बयान में कहा, “हम खबर का स्वागत करते हैं कि यूनाइटेड किंगडम भविष्य के 5 जी नेटवर्क से हुआवेई पर प्रतिबंध लगाने और मौजूदा नेटवर्क से अविलेय हुआवेई उपकरणों को चरणबद्ध तरीके से हटाने की योजना बना रहा है.” उन्होंने कहा “हम एक सुरक्षित और जीवंत 5G तंत्र को बढ़ावा देने के लिए अपने ब्रिटिश दोस्तों के साथ काम करना जारी रखेंगे, जो कि ट्रान्साटलांटिक सुरक्षा और समृद्धि के लिए महत्वपूर्ण है,”

यह भी पढ़ें

बीजिंग द्वारा पलटवार की चेतावनी के बावजूद ब्रिटिश प्रतिबंध ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के प्रशासन को एक जीत दे दी है, बताते चले कि चीनी दूरसंचार कंपनी को अलग करने की मांग अमेरिका लगातार कर रहा है. ट्रम्प के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, रॉबर्ट ओ ब्रायन ने ट्विटर पर लिखा कि ब्रिटेन के इस कदम ने “बढ़ती अंतरराष्ट्रीय आम सहमति” को दिखाया कि हुआवेई और अन्य कंपनियां चीन से कथित तौर पर जुड़ी हुई हैं, यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है”

हालांकि यूरोपीय संघ ने हुआवै पर व्यापक प्रतिबंध का विरोध किया है वहीं पोम्पिओ  ने कई यूरोपीय देशों के द्वारा कंपनी के खिलाफ लिए गए निर्णय का जिक्र किया है. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और दक्षिण कोरिया की उन कंपनियों की ओर भी इशारा किया जिन्होंने Huawei को हटाने का फैसला लिया है. अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा,”देशों को यह भरोसा करने में सक्षम होने की आवश्यकता है कि 5 जी उपकरण और सॉफ्टवेयर राष्ट्रीय सुरक्षा, आर्थिक सुरक्षा, गोपनीयता, बौद्धिक संपदा या मानव अधिकारों को खतरे में नहीं डालेंगे”

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Leave a comment

%d bloggers like this: